भूगर्भीय संसाधन (Geological resources)- भूगर्भीय संसाधन का आशय जमीन के अन्दर या जमीन में पड़ी प्राकृतिक वस्तुओं से है, इसमें कोयला, अभ्रक, लोहा, हीरा, पेट्रोलियम, मैंगनीज, पत्थर, सोना, ताँबा, बाक्साइट, लिग्नाइट आदि खनिज प्रमुख है। देश में भूगर्भीय संसाधन सभी स्थानों पर समान रूप से नहीं पाये जाते हैं। इन संसाधनों के मामले में बिहार, झारखण्ड, उड़ीसा, मध्य प्रदेश तथा पश्चिम बंगाल धनी प्रदेश है। अत: देश के जिन स्थानों पर जिन भूगर्भीय संसाधनों की प्रचुरता है, वहाँ उस संसाधन से सम्बन्धित व्यवसाय के विकास की सम्भावना अधिकाधिक रहती है। यही कारण है कि बिहार एवं झारखण्ड में कोयला उद्योग, मध्य प्रदेश में हीरा एवं पन्ना उद्योग विकसित हुए हैं। अत: भूगर्भीय संसाधन व्यावसायिक वातावरण का प्रमुख घटक है।
व्यक्तिगत रूप से बैठक आपको वेबसाइट के बारे में बात करते समय, और अधिक महत्वपूर्ण रूप से, उनके व्यवसाय के दौरान अपनी शारीरिक भाषा और आचरण देखने की अनुमति देती है। अक्सर, इन सूक्ष्मताओं के माध्यम से बहुत अधिक जानकारी दी जा सकती है जो अन्यथा अनजान होंगी यदि आप फोन या ईमेल पर 100% का भरोसा कर रहे हैं। जब आप सख्ती से कुशल होने की तलाश में हैं तो फोन कॉल और ईमेल सेव करे - क्रिएटिव आवश्यकताओं पर निर्णय लेना और अपने और क्लाइंट के बीच प्रारंभिक संचार प्रभावशीलता से ऊपर दक्षता रखने का समय नहीं है।
अंत में, हमेशा क्लाइंट के ब्रांडिंग डाक्यूमेंट्स की कॉपी मांगना याद रखें (यदि उनके पास एक है)। इसमें वेक्टर या हाय-रेज प्रारूप, लोगो उपयोग दिशानिर्देशों में उनके लोगो को भी शामिल करना चाहिए और उन्हें उन फ़ॉन्ट्स की कॉपी देने के लिए कहें जिन्हें वे उपयोग करते हैं क्योंकि अगर वे खरीदे गए हैं या उनके लिए इसे अनुकूलित किया गया है तो उन्हें स्वतंत्र रूप से प्राप्त करना मुश्किल हो सकता है (लेकिन ध्यान दें कि आपको इसे अपने डिजाइन के अलावा किसी अन्य चीज़ के लिए उपयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि कई फोंट कॉपीराइट किए गए हैं)
यह आपको अपना रूपांतरण प्रति रूपांतरण देता है लाभ की गणना में, बेची गई वस्तुओं की खरीद की अपनी लागत में कटौती करना सुनिश्चित करें इसके अलावा भुगतान गेटवे शुल्क और शिपिंग जैसे लागत भी घटाएं। निर्धारित ओवरहेड्स का कटौती न करें, जो सीधे बेचे जाने वाले सामानों की लागत से संबंधित नहीं हैं, जैसे आपकी स्थापना लागत इसके अलावा, पीपीसी विज्ञापन पर व्यय काट नहीं करें
एक सार्थक, उत्पादक चर्चा करने में सहायता करने के लिए, हम यह अनुशंसा कर रहे हैं कि आप लोगों को इन भूमिकाओं में से प्रत्येक के लिए स्वयंसेवा करने को कहें। यह भूमिकाएं सभी प्रतिभागियों को चर्चा के उद्देश्य पर ध्यान केंद्रित रहने और दोस्ताना स्थान उम्मीदों का पालन करने की अनुमति देती हैं। यदि आप चर्चा समन्वयक हैं, तो आप सुविधाकर्ता या लेखक भी हो सकते हैं, या आप उस भूमिका में किसी और को नामित कर सकते हैं।

संबंधित कीवर्ड की पहचान करने का दूसरा तरीका श्रेणी चुनना है। इस उदाहरण में आप डोमेन या यूआरएल के बजाय उत्पादों या सेवाओं की श्रेणी को इनपुट करेंगे। उदाहरण के लिए, यदि सेवा की पेशकश “मार्केटिंग” है, तो आप श्रेणी क्षेत्र में “विज्ञापन एवं विपणन” श्रेणी का चयन करेंगे और खोज पर क्लिक करेंगे। यह हमेशा इस कीवर्ड टूल का सर्वश्रेष्ठ उपयोग नहीं है, हालांकि, क्योंकि श्रेणियां अक्सर बहुत सामान्य होती हैं और कुछ श्रेणियां उपलब्ध नहीं होती हैं


इनबाउंड मार्केटिंग में मतभेदों को समझने का प्रयास किया जाता हैदर्शक प्रत्यक्ष बिक्री संचार करने से पहले। प्रत्येक व्यक्तित्व आपके संपर्क आधार के भीतर आपके प्रस्ताव के संबंध में अलग-अलग दर्द और अपेक्षाएं होंगी। एक व्यक्ति एक वित्तीय सलाहकार को किराए पर ले सकता है, उदाहरण के लिए, क्योंकि वह टूट गया है या क्योंकि वह अपना व्यवसाय बढ़ाना चाहता है। दर्द और संचार के प्रकार वे प्रत्येक मामले में बहुत अलग होंगे।

दीर्धकालीन नियोजन संस्थान के इरादों एवं अपेक्षाओं का वास्तविक प्रतिनिधि कहा जा सकता है। इसमें वातावरण में आये परिवर्तनों का समायोजन किया जाना आसान है और यह उपक्रम के विकास में तीव्रता लाता है। इसके अलावा यह शोध एवं अनुसंधान को प्रोत्साहन देगा। इसके दोष है- लम्बी अवधि का पूर्वानुमान करना कठिन, खर्चीली व्यवस्था तथा सभी तत्वों के प्रभावों का विश्लेषण करना कठिन।


Automated, conversion-based bid strategies--Target cost-per-acquisition (CPA), Target return on ad spend (ROAS), or Maximize conversions, or Enhanced cost-per-click (ECPC) with Search and Shopping campaigns -- use your conversion history to optimize bids with precision on each and every auction. But if you don’t have the right conversion actions set up, it could impact the accuracy of your strategy’s automated bids, limiting your conversions.
 व्यवसाय की समस्त क्रियाएँ राष्ट्र के आर्थिक, सामाजिक, राजनैतिक, वैध् ाानिक, प्रौद्योगिकीय, नैतिक एवं सांस्कृतिक वातावरण या पर्यावरण के सन्दर्भ में निर्धारित होती है। इसलिए व्यावसायिक पर्यावरण के अर्थ को भली-भाँति जान लेना अति आवश्यक हो जाता है। सामान्यत: व्यावसायिक वातावरण से तात्पर्य उन समस्त कारकों (factors) से होता है, जो व्यवसाय के संचालन को प्रभावित करती है। व्यावसायिक पर्यावरण की परिभाषा विभिन्न विद्धानों द्वारा निम्न प्रकार दी गयी है-
उन्होंने बताया कि भगत सिंह को जब फांसी के लिए ले जाया जा रहा था तब लाहौर सेंट्रल जेल के वार्डन सरदार चतर सिंह ने उनसे आखिरी वक़्त ईश्वर को याद करने को कहा. भगत सिंह ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया था कि सारी जिंदगी दुखियों और गरीबों के कष्ट देखकर मैं ईश्वर को नकारता रहा, और अब मैं उन्हें याद करूंगा तो लोग मुझे बुजदिल समझेंगे और कहेंगे कि देखो ये आखिरी वक़्त मौत से डर गया. उनके इस कथन से इस बात का इशारा मिलता है वो नास्तिक नहीं थे इसलिए इतिहासकारों के जानिब से उन्हें नास्तिक बताया जाना गलत है.

 संभावित खोजशब्द लक्ष्यों को पहचानने का एक अन्य तरीका उन वाक्यांशों को देखना है जो पहले से ही किसी वेबसाइट पर जैविक ट्रैफ़िक पैदा कर रहे हैं। यह ऑप्टिमाइज़ेशन के माध्यम से उस ट्रैफ़िक को बढ़ाने की संभावना में अंतर्दृष्टि प्रदान करता है Google Analytics का उपयोग करके, विज्ञापनदाता उन खोजशब्दों की समीक्षा कर सकते हैं जो एक वेबसाइट पर यातायात को व्यवस्थित रूप से चला रहे हैं। बेशक, आज की डिजिटल मार्केटिंग दुनिया में वेब एनालिटिक्स प्लेटफॉर्म होने के कई कारणों के लिए आवश्यक है और यह सिर्फ एक है कई अच्छे विश्लेषिकी प्लेटफार्म हैं, जिनमें से कुछ बहुत ही उच्च मूल्य टैग हैं Google Analytics का मानक संस्करण, मेरी राय में, किसी भी अन्य प्लेटफ़ॉर्म के लिए उतना ही उपयोगी है, केवल अंतर के साथ यह लागत से मुक्त है


मैं पूछता हूँ तुम्हारा सर्वशक्तिशाली ईश्वर हर व्यक्ति को क्यों नहीं उस समय रोकता है जब वह कोई पाप या अपराध कर रहा होता है? यह तो वह बहुत आसानी से कर सकता है. उसने क्यों नहीं लड़ाकू राजाओं की लड़ने की उग्रता को समाप्त किया और इस प्रकार विश्वयुद्ध द्वारा मानवता पर पड़ने वाली विपत्तियों से उसे बचाया? उसने अंग्रेजों के मस्तिष्क में भारत को मुक्त कर देने की भावना क्यों नहीं पैदा की? वह क्यों नहीं पूँजीपतियों के हृदय में यह परोपकारी उत्साह भर देता कि वे उत्पादन के साधनों पर अपना व्यक्तिगत सम्पत्ति का अधिकार त्याग दें और इस प्रकार केवल सम्पूर्ण श्रमिक समुदाय, वरन समस्त मानव समाज को पूँजीवादी बेड़ियों से मुक्त करें? आप समाजवाद की व्यावहारिकता पर तर्क करना चाहते हैं. मैं इसे आपके सर्वशक्तिमान पर छोड़ देता हूँ कि वह लागू करे. जहाँ तक सामान्य भलाई की बात है, लोग समाजवाद के गुणों को मानते हैं. वे इसके व्यावहारिक न होने का बहाना लेकर इसका विरोध करते हैं.
पता लगाएँ कि क्या अच्छी तरह से प्रतिध्वनित है और "विपणन" निशान को मारने का मतलब ठीक बिक्री और बिल्कुल हत्यारा बिक्री के बीच का अंतर हो सकता है। कई तत्वों के साथ विपणन एक अच्छा नृत्य है जिसे माना जाना चाहिए। अभियानों के कई सूक्ष्म तत्वों पर त्वरित चलने के साथ, रूपांतरण दर अंततः 4x बढ़ने के लिए असामान्य नहीं है। मुझे लगता है कि मार्केटिंग और विज्ञापन विभागों में क्या प्रदर्शन होना चाहिए, जो कि पीपीसी में आसानी से पहुंचने वाले डेटा फीडबैक के साथ काम कर सकते हैं।
3. समन्वय में सहायता : समन्वय सामान्य उद्देश्यों की पूर्ति के लिए विभिन्न क्रियाओं की एक व्यवस्थित प्रथा है। इसके माध्यम से उपक्रम के उद्देश्यों को प्राप्त करना सरल हो जाता है, क्योंकि योजनाएं चुने हुए मार्ग हैं, इसलिए इनकी सहायता से प्रबन्धक संघर्ष के स्थान पर सहयोग जागृत कर सकता है जो कि विभिन्न क्रियाओं में समन्वय स्थापित करने में मदद देता है। इसके अतिरिक्त यह विभिन्न क्रियाओं का इस प्रकार निर्धारण करता है, जिससे समन्वय लाना आवश्यक बन जाता है।
समुद्री एवं आकाश्ीय संरचना (Structure of ocean and beacon) - किसी देश के व्यवसाय की उन्नति या विकास देश के समुद्री एवं आकाशीय संरचना पर निर्भर करता है। भारत जैसे देश जहाँ पर समुद्रीय तट या सीमा है, वहाँ पर देश के अनेक उद्योग विकसित हुए हैं तथा वह क्षेत्र भी आर्थिक रूप से संपन्न हुआ है। आकाशीय संरचना से तात्पर्य देश की भौगोलिक स्थिति से है। यदि किसी देश की आकाशीय संरचना देश के उद्योग एवं व्यापार के अनुकूल है, तो वह देश औद्योगिक रूप से विकसित होगा।
अपने छोटे व्यवसाय के लिए वास्तव में क्या काम करता है यह देखने के लिए सभी प्रचार के माध्यम से काटना एक चुनौती हो सकती है। जब आप टूल और रणनीति पर अपने सभी प्रयासों पर ध्यान केंद्रित करते हैं लेकिन आपके कार्यों के पीछे कोई स्पष्ट रणनीति नहीं है, तो आपके विपणन और बिक्री फ़नल में कुछ गंभीर छेद तीन मुख्य क्षेत्रों में सतह पर शुरू हो जाएंगे। उदाहरण के लिए:
दीर्धकालीन नियोजन संस्थान के इरादों एवं अपेक्षाओं का वास्तविक प्रतिनिधि कहा जा सकता है। इसमें वातावरण में आये परिवर्तनों का समायोजन किया जाना आसान है और यह उपक्रम के विकास में तीव्रता लाता है। इसके अलावा यह शोध एवं अनुसंधान को प्रोत्साहन देगा। इसके दोष है- लम्बी अवधि का पूर्वानुमान करना कठिन, खर्चीली व्यवस्था तथा सभी तत्वों के प्रभावों का विश्लेषण करना कठिन।
2. लोचशीलता का अभाव : नियोजन के कार्य में एक अन्य कठिनाई पर्याप्त लोच का अभाव है। विलियम न्यूमेन के अनुसार नियोजन जितना अधिक विस्तृत होगा उसमें उतनी ही ज्यादा लोचहीनता होगी। लोच के अभाव में प्रबन्धक उत्साह-विहीन हो जातेहैं जिससे वे उपक्रम के कार्यों में पूर्ण रूचि नहीं ले पाते। प्रबन्धक पूर्व निर्धारित नीतियों, पद्धतियों तथा कार्यक्रम के अनुसार कार्य करने के लिए बाध्य होते हैं और परिस्थितियों के अनुरूप उनमें संशोधन की आवश्यकता होने पर भी वे ऐसा नहीं कर सकते। इस प्रकार लोचहीनता के कारण नियोजन के संचालन में कठिनाइयों उत्पन्न हो जाती हैं।

Rio SEO provides best-of-breed technology solutions for earned and owned digital media programs, specifically for SEO (search engine optimization) and social media marketing.  Based in San Diego, Rio SEO is among the largest independent providers of SaaS-based SEO automation solutions and patented reporting tools. Rio SEO offers application modules for organic search and social media, including software tools for content marketing, campaign activation, auditing, reporting, change tracking, keyword competitive analysis, mobile site optimization, SEO execution, and local SEO automation.  Rio SEO software clients include brand marketers, retailers, and digital agencies. More information about Rio SEO is available at www.RioSEO.com.
मौद्रिक नीति (Monetary policy) - किसी भी देश की मौद्रिक नीति का प्रमुख उद्देश्य आर्थिक विकास, अधिक रोजगार, मूल्यों में स्थिरता, अनुकूल भुगतान संतुलन, आय का समान वितरण आदि होता है। इन उद्देश्यों को सफलतापूर्वक प्राप्त करने के लिए मुद्रा पर नियन्त्रण अति आवश्यक होता है। अत: मुद्रा से सम्बन्धित सभी प्रकार की अल्पकालीन एवं दीर्घकालीन नीतियाँ मौद्रिक नीति के अन्तर्गत आती है जिसमें मूल्य नियन्त्रण, ब्याज दर में परिवर्तन, सरकारी बजट, विनिमय दर, सार्वजनिक व्यय, वेतन वृद्धि, साख का नियमन, आयात-निर्यात नियन्त्रण आदि सभी आर्थिक कार्य इसकी नीति के अन्तर्गत शामिल होते हैं। मौद्रिक नीति द्वारा किसी भी देश का व्यावसायिक वातावरण काफी हद तक प्रभावित होता है, इसलिए यह व्यावसायिक वातावरण का प्रमुख आर्थिक घटक माना जाता है। 

श्रम-प्र्रबन्ध सम्बन्ध (Relation of labour management) श्रम तथा प्रबन्ध सम्बन्ध किसी संस्था के पर्यावरण को प्रभावित करने वाले तत्व होते हैं। किसी संगठन में श्रमिक कार्य करने वाला तथा प्रबन्धक कार्य कराने वाला होता है। अत: यदि इनके मध्य तालमेल या अच्छे सम्बन्ध नहीं होंगे तो निश्चित रूप से संगठन को लक्ष्य प्राप्त करना असम्भव हो जाता है। इसके विपरीत यदि इनके मध्य अच्छे सम्बन्ध हैं, तो कठिन से कठिन लक्ष्य आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। इस प्रकार श्रम-प्रबन्ध सम्बन्ध किसी संगठन में बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।
परमात्मा को आने दो और वह चीज को सही तरीके से कर दे. अंग्रेजों की हुकूमत यहाँ इसलिये नहीं है कि ईश्वर चाहता है बल्कि इसलिये कि उनके पास ताकत है और हममें उनका विरोध करने की हिम्मत नहीं. वे हमको अपने प्रभुत्व में ईश्वर की मदद से नहीं रखे हैं, बल्कि बन्दूकों, राइफलों, बम और गोलियों, पुलिस और सेना के सहारे. यह हमारी उदासीनता है कि वे समाज के विरुद्ध सबसे निन्दनीय अपराध – एक राष्ट्र का दूसरे राष्ट्र द्वारा अत्याचार पूर्ण शोषण – सफलतापूर्वक कर रहे हैं. कहाँ है ईश्वर? क्या वह मनुष्य जाति के इन कष्टों का मज़ा ले रहा है? एक नीरो, एक चंगेज, उसका नाश हो!

It is the travesty of justice that there is no transfer policy in education department. They strongly condemned the state Government for not transferring masters, lectures and headmasters who have not only completed their tenure in for flung areas but working there for last three to more than five years. J&K Teachers Coordination Committee appeals the Governor administration to concede the above demands at an earliest, otherwise teaching community will be compelled to resort aggressive agitation in coming days. Others who addressed the gathering includes Rajiv Kumar, Joginder Kumar Rahul Singh, S. Parveen Singh, Raj Kumar, Davinder Singh, Pardeep Singh, Thuru Ram, Rchhpal Singh, Roop Chand, Madan Singh, Rachhpal Choudhary, Roopa Sambyal, Sonia Devi, Surjit Singh, Vijay Kumar and Sunil Thappa.
भगतसिंह ने लाहौर सेंट्रल जेल में चार सौ से ज्यादा पन्नों की एक डायरी लिखी थी. डायरी में लिखी गई कुछ उर्दू पंक्तियों से भी ऐसे इशारे मिलते हैं. इस डायरी के पेज नंबर 124 में भगत सिंह लिखाते हैं, 'दिल दे तो इस मिजाज का परवरदिगार दे, जो गम की घड़ी को भी खुशी से गुलज़ार कर दे' इसी पन्ने में आगे वो लिखते हैं, 'छेड़ ना फरिश्ते तू जिक्र-ए-गम, क्यों याद दिलाते हो भूला हुआ अफसाना.'
Nearly 25 lakh Mid Day Meal Wo...rkers working under the school Mid Day Meal Scheme play a crucial role in combating the malnutrition in the country. Modi led BJP Government had done injustice to these grass root level by not increasing their remuneration. MDMWFI demand immediate increase in the wages of Mid Day Meal workers and implementation of the decisions of the 45th Indian Labour conference – recognition as workers, minimum wages Rs.18000 per month and pension and social security.
दीर्धकालीन नियोजन संस्थान के इरादों एवं अपेक्षाओं का वास्तविक प्रतिनिधि कहा जा सकता है। इसमें वातावरण में आये परिवर्तनों का समायोजन किया जाना आसान है और यह उपक्रम के विकास में तीव्रता लाता है। इसके अलावा यह शोध एवं अनुसंधान को प्रोत्साहन देगा। इसके दोष है- लम्बी अवधि का पूर्वानुमान करना कठिन, खर्चीली व्यवस्था तथा सभी तत्वों के प्रभावों का विश्लेषण करना कठिन।
तले हुए, तले हुए, सब्ज़ी या आमलेट कुछ ऐसे रूप हैं, जिन्हें स्थानीय विक्रेताओं द्वारा प्रायोजित किया जाता है। लेकिन आज के ग्राहकों को खाने की मेज पर अधिक किस्मों की तरह वे अपने स्वाद की कलियां तलाशना चाहते हैं और स्वच्छता और ताजगी की मांग भी करते हैं। यह अच्छी तरह से कहा गया है, 'व्यापार केवल सफल होगा जब आपका ग्राहक उत्पादों या सेवाओं से खुश होगा' अंडेवाला का आदर्शवाद प्राकृतिक सामग्री, जड़ी बूटियों या मसालों द्वारा तैयार किए गए विश्वस्तरीय व्यंजनों को वितरित करना है।
कानूनी वातावरण (Legal environment) कानूनी वातावरण का निर्माण देश द्वारा समाज के आर्थिक एवं सामाजिक लक्ष्यों, विचारधाराओं तथा मूल्यों के आधार पर निर्धारित होता है। विकासोन्मुखी व कल्याणकारी राज्य में उपभोक्ताओं, निर्धनों, बेरोजगारों, महिलाओं, बूढ़ों तथा अन्य जरूरतमन्द लोगों के हितों की रक्षा के लिए कानूनी प्रावधान किये जाते हैं। इसके लिए सरकार विभिन्न अधिनियमों एवं नियमों के माध्यम से व्यवसाय का संचालन करती है। अत: व्यवसाय भी इन्हीं परिसीमाओं के मध्य संचालित होता है। इस सम्बन्ध में प्रसिद्ध अर्थशास्त्री आर्थरलेविस का कहना है कि ‘‘सरकार का व्यवहार आर्थिक क्रियाओं के प्रोत्साहन एवं हतोत्साहन द्वारा भी व्यवसाय की दिशा व दशा तय करने में महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित करने वाला तत्व है।
के लिए सबसे अच्छा: जब आपके पास वाक्यांशों में ठोस अंतर्दृष्टि होती है तो आपके प्रतिस्पर्धियों की साइटें इसका उपयोग कर रहे हैं, साथ ही साथ वे कहां उपयोग कर रहे हैं, यह आपकी साइट को अनुकूलित करना बहुत आसान हो जाता है। ब्लूजे जैसे टूल्स आपको यह दिखाने में बहुत प्रभावी हैं कि आपके पृष्ठों के किन क्षेत्रों को और अधिक काम की ज़रूरत है, इसलिए कीवर्ड डेटा के साथ, आपके पास अनुकूलित करने के तरीके के बारे में स्पष्ट निर्देश हैं। मैं यहां ब्लूजे की सलाह देता हूं क्योंकि यह बहुत ही नौसिखिया-अनुकूल है: क्या करना है इसके बारे में स्पष्ट निर्देश हैं और उनकी रिपोर्ट के प्रत्येक अनुभाग के लिए ऐसा क्यों करें, इसलिए यह आपको अभिभूत होने से रोकता है।

I came across this phrase “Relevant Content is not Always Great Content” on a website while reading about SEO last week. I believe the phrase says it all. Many businesses have faced a premature death primarily because they failed to increase their visibility online and unable to attract maximum traffic to their website in spite of having relevant content related to their company products and services. What their site lacked is best of search engine optimization strategies and methodologies.
×