श्रम-प्र्रबन्ध सम्बन्ध (Relation of labour management) श्रम तथा प्रबन्ध सम्बन्ध किसी संस्था के पर्यावरण को प्रभावित करने वाले तत्व होते हैं। किसी संगठन में श्रमिक कार्य करने वाला तथा प्रबन्धक कार्य कराने वाला होता है। अत: यदि इनके मध्य तालमेल या अच्छे सम्बन्ध नहीं होंगे तो निश्चित रूप से संगठन को लक्ष्य प्राप्त करना असम्भव हो जाता है। इसके विपरीत यदि इनके मध्य अच्छे सम्बन्ध हैं, तो कठिन से कठिन लक्ष्य आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। इस प्रकार श्रम-प्रबन्ध सम्बन्ध किसी संगठन में बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।
राजकोषीय एवं कराधान नीतियाँ (Flscal and taxation policy) - सरकार राजकोषीय एवं कराधान नीति के माध्यम से एक आरे व्यक्तिगत अर्थव्यवस्था, व्यय एवं बचत क्रियाओं को नियन्त्रित करके आवश्यक कोष (धरनराशि) सरकारी खजाने (कोष) में जमा करती है वहीं दूसरी ओर अपनी व्यय नीति के द्वारा राष्ट्रीय कल्याण में वृद्धि के लिए प्राप्त धनराशि का वितरण करती है। राजकोषीय नीति का सम्बन्ध कर नीति, व्यय नीति, ऋणनीति, बजट निर्माण आदि से होता है। सरकार द्वारा इन क्रियाओं का उद्देश्यपूर्ण उपयोग आर्थिक स्थायित्व (economic stability), दु्रतगामी एवं पूर्ण रोजगार आदि प्राप्ति के लिए किया जाता है। यह राजकोषीय एवं कराधान नीतियाँ व्यावसायिक वातावरण के महत्वपूर्ण निध्र्धारक घटक होते हैं।

फिर भी, नेशनल एसोसिएशन ऑफ रियल्टीर्स (एनएआर) मनी लॉन्डिंग समस्या से लड़ने के लिए एक "उचित" दृष्टिकोण के रूप में इस कदम का समर्थन करता है, जबकि यह देखते हुए कि "रियल एस्टेट एजेंट और दलाल धनराशि के बाद धन शोधन का पता लगाने की स्थिति में नहीं हैं अचल संपत्ति लेनदेन में शामिल विनियमित वित्तीय संस्थानों के माध्यम से किया जाता है।"एनएआर ने धन परिसमापन के लक्षणों की पहचान करने के लिए रियल एस्टेट पेशेवरों के लिए स्वैच्छिक दिशानिर्देश तैयार करने के लिए वित्त मंत्रालय के साथ काम किया है और अपने सदस्यों के साथ अपनी वेबसाइट, राष्ट्रीय बैठकों में कार्यशालाओं और विभिन्न प्रकाशनों में जानकारी साझा की है।
11. बजट का निर्माण करना- कोई भी योजना वित्त व्यवस्था के बिना अधूरी रहती है। योजना में निर्धारित कार्यों को दिल प्रबन्ध द्वारा ही पूरा किया जा सकता है, अत: योजना को अन्तिम रूप दे ने के साथ ही उसका बजट भी बना लिया जाता है। इसमें योजना की विभिन्न क्रियाओं पर खर्च की जाने वाली वित्तीय राशि का प्रावधान किया जाता है। बजट योजनाओं को नियंत्रित करने तथा योजनाओं की प्रगति का मूल्यांकन करने का एक महत्वपूर्ण उपकरण भी होता है। /injects>
×