Along with the newly integrated Rio SEO Social Media Suite, Rio SEO offers award-winning SEO automation tools for website optimization, keyword discovery, and mobile websites.  It also provides the search industry’s first patented organic search reporting solution, along with a unique SEO change tracking tool.  Additionally, Rio SEO has a suite of popular local search solutions, which appeal to national retailers, franchise operators, auto dealers, and other marketers looking to implement “hyperlocal” promotion campaigns.
व्यक्तिगत रूप से बैठक आपको वेबसाइट के बारे में बात करते समय, और अधिक महत्वपूर्ण रूप से, उनके व्यवसाय के दौरान अपनी शारीरिक भाषा और आचरण देखने की अनुमति देती है। अक्सर, इन सूक्ष्मताओं के माध्यम से बहुत अधिक जानकारी दी जा सकती है जो अन्यथा अनजान होंगी यदि आप फोन या ईमेल पर 100% का भरोसा कर रहे हैं। जब आप सख्ती से कुशल होने की तलाश में हैं तो फोन कॉल और ईमेल सेव करे - क्रिएटिव आवश्यकताओं पर निर्णय लेना और अपने और क्लाइंट के बीच प्रारंभिक संचार प्रभावशीलता से ऊपर दक्षता रखने का समय नहीं है।
अधिकतम लाभ प्रा्रा्राप्त करने की चाहत (Desire of getting maximum profit) वर्तमान व्यावसायिक परिवेश में व्यवसाय का प्रमुख उद्देश्य अधिकाधिक लाभ कमाना माना जाने लगा है। अत: अधिकतम लाभ प्राप्ति हेतु व्यवसायों के लिए आवश्यक हो जाता है कि वे अपने उत्पाद एवं सेवा की लागत को न्यूनतम करने के साथ-साथ सर्वोत्तम सेवा प्रदान करके अधिकतम लाभ कमायें। अत: इसके लिये व्यवसाय को उत्पादन से लेकर वितरण तक की समस्त पहलुओं या प्रक्रियाओं का गहन अध्ययन एवं विश्लेषण करके सर्वोत्तम विकल्प एवं अधिकतम कुशलता प्राप्त करनी होगी। यह लक्ष्य व्यावसायिक वातावरण के अध्ययन एवं मूल्यांकन के पश्चात् ही प्राप्त हो सकता है।

Исто така, нуди одличен избор на маркетинг и аналитички алатки за да ви помогне да процените колку добро вашата апликација работи. Креирањето на апликација треба да биде трет чекор во креирањето на вашиот бренд на Интернет. Вистинскиот развивач на апликации може да ја зголеми видливоста на вашата компанија на неколку канали, да го подобри нивото на услуги на клиентите и да отвори нов свет за вас и за вашиот бизнис.
4. सूचनाओं का संकलन एवं विश्लेषण- नियोजन की मान्यताओं का निर्धारण करने के पश्चात् योजना से सम्बन्धित तथ्यों व सूचनाओं का संकलन करना होता है। येसूचनाएँ विभिन्न आंतरिक İोतों जैसे पुराने रिकार्ड, फाइलें, विद्यमान नीतियों, प्रलेखों आदि से एकत्रित की जा सकती हैं। बाह्य स्त्रोतों के रूप में विभिन्न सरकारी विभागों, प्रतिद्वन्द्वी संस्थाओं, ग्राहक आदि से ये सूचनाएं, बाजार अनुसंधान, अवलोकन व साक्षात्कार के द्वारा प्राप्त की जा सकती हैं। संकलन के बाद सूचनाओं का वर्गीकरण एवं विश्लेषण करके योजनाओं के निर्माण में इनकी उपयोगिता ज्ञात की जा सकती है।
2. नियन्त्रण में सुगमता : कार्य पूर्व-निर्धारित कार्य-विधि के अनुसार हो रहा हे या नहीं, यह जानना ही नियन्त्रण का कार्य है। नियोजन के माध्यम से कार्य प्रारम्भ करने की विधि तय की जाती है ताकि प्रमाप निर्धारित किये जाते है। ऐसी कई तकनीकों का विकास हो चुका है, जिनसे नियोजन एवं नियन्त्रण में गहरा सम्बन्ध स्थापित किया जा सकता है। जो तकनीक नियोजन में काम में ली जाती हैं वे ही आगे चलकर नियन्त्रण का आधार बनती हैं। इसीलिए यदि नियोजन को नियन्त्रण की आत्मा कह दिया जायेतो कोई गलती नहीं होगी।

मैं पूछता हूँ तुम्हारा सर्वशक्तिशाली ईश्वर हर व्यक्ति को क्यों नहीं उस समय रोकता है जब वह कोई पाप या अपराध कर रहा होता है? यह तो वह बहुत आसानी से कर सकता है. उसने क्यों नहीं लड़ाकू राजाओं की लड़ने की उग्रता को समाप्त किया और इस प्रकार विश्वयुद्ध द्वारा मानवता पर पड़ने वाली विपत्तियों से उसे बचाया? उसने अंग्रेजों के मस्तिष्क में भारत को मुक्त कर देने की भावना क्यों नहीं पैदा की? वह क्यों नहीं पूँजीपतियों के हृदय में यह परोपकारी उत्साह भर देता कि वे उत्पादन के साधनों पर अपना व्यक्तिगत सम्पत्ति का अधिकार त्याग दें और इस प्रकार केवल सम्पूर्ण श्रमिक समुदाय, वरन समस्त मानव समाज को पूँजीवादी बेड़ियों से मुक्त करें? आप समाजवाद की व्यावहारिकता पर तर्क करना चाहते हैं. मैं इसे आपके सर्वशक्तिमान पर छोड़ देता हूँ कि वह लागू करे. जहाँ तक सामान्य भलाई की बात है, लोग समाजवाद के गुणों को मानते हैं. वे इसके व्यावहारिक न होने का बहाना लेकर इसका विरोध करते हैं.
व्यवसाय की समस्याओंं एवं चुनौतियोंं का ज्ञान (Knowledge of problem and challenges of business) व्यवसाय के आन्तरिक वातावरण के माध्यम से व्यवसाय में उत्पन्न समस्याओं एवं नयी-नयी उत्पन्न चुनौतियों आदि के बारे में समय रहते पता चला जाता है। अत: व्यावसायिक वातावरण के अध्ययन एवं विश्लेषण के पश्चात् व्यवसाय में उत्पन्न इस तरह की आन्तरिक समस्याओं एवं चुनौतियों का सामना करने व समाधान खोजने के लिए प्रबन्धकों को विशेष कठिनार्इ का सामना नहीं करना पड़ता है।
प्रति क्लिक भुगतान (पीपीसी) विपणन कार्यक्रमों के तहत, आप प्रतिस्पर्धात्मक बोली लगाते हैं विशिष्ट खोजशब्दों पर, अधिकतम राशि निर्धारित करने पर आप प्रत्येक बार भुगतान करने के इच्छुक होते हैं, जब दर्शक आपकी साइट पर क्लिक करता है। पूर्व में, सबसे अधिक बोलीदाता द्वारा प्रदान किया गया विज्ञापन आम तौर पर प्रायोजित खोजों की सूची के शीर्ष पर दिखाई देता है, साथ ही अन्य विज्ञापन, बोली राशि के आधार पर अवरोही क्रम में दिखाई देते हैं।
मुझे पुराने स्कूल बुलाओ, लेकिन अगर यह व्यवसाय इन सात चरणों को व्हाइटबोर्ड पर बाहर करता है तो मुझे यह उपयोगी लगता है। अगले चरण तक लीड को पुश करने के लिए आपके व्यवसाय का उपयोग करने वाले टूल और रणनीतियों को भरना प्रारंभ करें। इस प्रक्रिया का पालन करने में, आपके सिस्टम में अक्षमता चमकदार रूप से स्पष्ट हो जाएगी। जब आप रेफरल या इससे भी बदतर में छूट रहे हों, तो आप यह देखना शुरू कर देंगे कि आप कहां से प्रतिस्पर्धा के लिए जा रहे हैं।
श्रम-प्र्रबन्ध सम्बन्ध (Relation of labour management) श्रम तथा प्रबन्ध सम्बन्ध किसी संस्था के पर्यावरण को प्रभावित करने वाले तत्व होते हैं। किसी संगठन में श्रमिक कार्य करने वाला तथा प्रबन्धक कार्य कराने वाला होता है। अत: यदि इनके मध्य तालमेल या अच्छे सम्बन्ध नहीं होंगे तो निश्चित रूप से संगठन को लक्ष्य प्राप्त करना असम्भव हो जाता है। इसके विपरीत यदि इनके मध्य अच्छे सम्बन्ध हैं, तो कठिन से कठिन लक्ष्य आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। इस प्रकार श्रम-प्रबन्ध सम्बन्ध किसी संगठन में बहुत महत्वपूर्ण होते हैं।
प्रशासक और ट्राइज़ोलॉजिस्ट, एक्सेल जो प्रबंधकों, उद्यमियों और छात्रों को देता है संभावनाओं के बारे में भावुक। वह LUZ - स्प्रेडशीट्स (luz.vc) में स्प्रेडशीट क्षेत्र का प्रबंध भागीदार है और अपनी वेबसाइट में व्यावसायिक और निजी फोकस के साथ 150 स्प्रैडशीट्स के विकास के लिए ज़िम्मेदार है। वह ऑनलाइन एक्सेल पाठ्यक्रम भी पढ़ता है (cursos.luz.vc) और LUZ फोरम और ब्लॉग के माध्यम से हजारों योजनाकारों की सहायता करना पसंद करता है।
कार्बनिक खोज के विपरीत, पीपीसी परिणाम बहुत अधिक तत्काल हैं। कैलुघर ने कहा, "आप सोमवार को पीपीसी अभियान शुरू कर सकते हैं और मंगलवार तक प्रदर्शन और रूपांतरण के परिणाम शुरू कर सकते हैं।" "यह तत्काल प्रतिक्रिया वास्तव में अमूल्य है। हम अपने कीवर्ड को तुरन्त ट्विक करने में सक्षम थे, महत्वपूर्ण समय या वित्तीय संसाधनों के बिना प्रदर्शन के अनुकूलन के बिना प्रदर्शन को अनुकूलित करने में सक्षम थे। "जब तक आप इसका उपयोग करते हैं, तत्काल प्रतिक्रिया बहुत बढ़िया होती है। पीपीसी एक सेट-एंड-एंड-भूल-रणनीति नहीं है: आपकी टीम को अभियान प्रतिक्रिया के आधार पर तत्काल पीपीसी विज्ञापनों को ट्विक करने के लिए तैयार होना चाहिए। अधिकतम आरओआई के लिए, उन्हें अनुभवी पीपीसी अभियान प्रबंधकों द्वारा दैनिक निगरानी की आवश्यकता होती है।
भौगोलिक लक्ष्यीकरण : आपके ग्राहक कहां हैं, और कितने हैं? उदाहरण के लिए, एक रिटेलर यह निर्धारित कर सकता है कि इसका भौगोलिक लक्ष्य बाजार प्राथमिक रूप से उन लोगों के हैं जो रिटेलर के व्यवसाय के स्थान की दो घंटे की ड्राइव में रहते हैं या छुट्टी करते हैं। एक अकाउंटेंट यह निर्धारित कर सकता है कि उसका भौगोलिक लक्ष्य बाजार शहर की सीमाओं के भीतर केंद्रित है। एक परामर्शदाता पांच राज्यों के क्षेत्र में व्यवसायों को लक्षित कर सकता है
आपको तर्कसंगत रूप से विज्ञापन प्रसारण की आवृत्ति के दृष्टिकोण की आवश्यकता है। उपयोगकर्ताओं और विज्ञापन चैनलों को दोबारा लगाने के लिए उपकरण काफी हैं अगर इसे ज़्यादा करना और पूरी तरह से सब कुछ का उपयोग करें, विज्ञापनदाता के बैनर कर सकते हैं धक्का ग्राहक। यह इस प्रकार है कि आपको सही पुनः लक्ष्यीकरण अभियान रणनीति का उपयोग करना होगा। अन्यथा, रूपांतरण अपरिवर्तित रहेगा, और आपका बजट व्यर्थ होगा।

बदलते व्यापारिक परिवेश में गलाकाट प्रतियोगिता के अन्तर्गत कोर्इ देश, एक व्यवसायी या व्यवसाय दूसरे से आगे निकलने के लिए सदैव तत्पर रहता है जिसमें ये घटक व्यवसाय को नयी-नयी ऊँचाइयों पर पहुँचने में सक्षम होते हैं। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकीय घटक के अन्तर्गत वैज्ञानिक शोध (Sciencific research), प्रौद्योगिकीय विकास, यान्त्रिकी, आणविक शक्ति (Atomic energy), सैटेलाइट सम्प्रेषण (Satellite communication), नाभिकीय शोध, आकाशीय शोध प्रयोगशालाएँ आदि प्रमुख हैं। इन घटकों के माध्यम से व्यावसायिक कार्यक्षमता एवं उत्पादन में वृद्धि के लिए व्यावसायिक गतिविधियों का बेहतर संचालन तथा नियन्त्रण सम्भव हो पा रहा है। इस प्रकार विज्ञान एवं प्रौद्योगिकीय घटक, व्यावसायिक वातावरण की दशा एवं दिशा तय करने के दृष्टिकोण से अत्यन्त महत्वपूर्ण घटक है। 


मनुष्य की सीमाओं को पहचानने पर, उसकी दुर्बलता व दोष को समझने के बाद परीक्षा की घड़ियों में मनुष्य को बहादुरी से सामना करने के लिये उत्साहित करने, सभी ख़तरों को पुरुषत्व के साथ झेलने और सम्पन्नता एवं ऐश्वर्य में उसके विस्फोट को बाँधने के लिये ईश्वर के काल्पनिक अस्तित्व की रचना हुई. अपने व्यक्तिगत नियमों और अभिभावकीय उदारता से पूर्ण ईश्वर की बढ़ा-चढ़ा कर कल्पना एवं चित्रण किया गया. जब उसकी उग्रता और व्यक्तिगत नियमों की चर्चा होती है, तो उसका उपयोग एक भय दिखाने वाले के रूप में किया जाता है. ताकि कोई मनुष्य समाज के लिये ख़तरा न बन जाये. जब उसके अभिभावक गुणों की व्याख्या होती है, तो उसका उपयोग एक पिता, माता, भाई, बहन, दोस्त और सहायक की तरह किया जाता है.
समस्या के संपर्क में आने पर, इमारत के कर्मियों विभाग में कार्यरत एक युवा मनोवैज्ञानिक ने एक साधारण सुझाव दिया जिसने समस्या को भंग कर दिया। इंजीनियरों के विपरीत, जिन्होंने सेवा को बहुत धीमी गति से देखा, उन्होंने समस्या को देखा जो एक लिफ्ट की प्रतीक्षा करने वालों के ऊबड़ से निकलने वाला था। तो उन्होंने फैसला किया कि उन्हें कुछ करने के लिए दिया जाना चाहिए। उन्होंने लिफ्ट लॉबी में लगाने का सुझाव दिया ताकि वे ऐसा करने के लिए खुद को और दूसरों को देखने के लिए सक्षम कर सकें। दर्पण लगाया गया और शिकायतें रुक गईं। वास्तव में, पहले शिकायत करने वाले किरायेदारों में से कुछ ने लिफ्ट सेवा के सुधार पर प्रबंधन को बधाई दी।
भूगर्भीय संसाधन (Geological resources)- भूगर्भीय संसाधन का आशय जमीन के अन्दर या जमीन में पड़ी प्राकृतिक वस्तुओं से है, इसमें कोयला, अभ्रक, लोहा, हीरा, पेट्रोलियम, मैंगनीज, पत्थर, सोना, ताँबा, बाक्साइट, लिग्नाइट आदि खनिज प्रमुख है। देश में भूगर्भीय संसाधन सभी स्थानों पर समान रूप से नहीं पाये जाते हैं। इन संसाधनों के मामले में बिहार, झारखण्ड, उड़ीसा, मध्य प्रदेश तथा पश्चिम बंगाल धनी प्रदेश है। अत: देश के जिन स्थानों पर जिन भूगर्भीय संसाधनों की प्रचुरता है, वहाँ उस संसाधन से सम्बन्धित व्यवसाय के विकास की सम्भावना अधिकाधिक रहती है। यही कारण है कि बिहार एवं झारखण्ड में कोयला उद्योग, मध्य प्रदेश में हीरा एवं पन्ना उद्योग विकसित हुए हैं। अत: भूगर्भीय संसाधन व्यावसायिक वातावरण का प्रमुख घटक है।
एक क्लासिक केस है जिसमें बड़े कार्यालय भवन के किरायेदारों ने तेजी से खराब लिफ्ट सेवा के बारे में शिकायत की है। लिफ्ट से संबंधित समस्याओं में विशेषज्ञता रखने वाली परामर्श फर्म को स्थिति से निपटने के लिए नियोजित किया गया था। इसने पहली बार स्थापित किया कि लिफ्ट्स के लिए औसत प्रतीक्षा समय बहुत लंबा था। इसके बाद लिफ्ट जोड़ने की संभावनाओं का मूल्यांकन किया गया, मौजूदा लिफ्ट्स को तेजी से बदल दिया गया, और लिफ्ट्स के उपयोग में सुधार के लिए कंप्यूटर नियंत्रण शुरू किया गया। विभिन्न कारणों से, इनमें से कोई भी संतोषजनक साबित हुआ। इंजीनियरों ने समस्या असफल होने की घोषणा की।
मैं पूछता हूँ तुम्हारा सर्वशक्तिशाली ईश्वर हर व्यक्ति को क्यों नहीं उस समय रोकता है जब वह कोई पाप या अपराध कर रहा होता है? यह तो वह बहुत आसानी से कर सकता है. उसने क्यों नहीं लड़ाकू राजाओं की लड़ने की उग्रता को समाप्त किया और इस प्रकार विश्वयुद्ध द्वारा मानवता पर पड़ने वाली विपत्तियों से उसे बचाया? उसने अंग्रेजों के मस्तिष्क में भारत को मुक्त कर देने की भावना क्यों नहीं पैदा की? वह क्यों नहीं पूँजीपतियों के हृदय में यह परोपकारी उत्साह भर देता कि वे उत्पादन के साधनों पर अपना व्यक्तिगत सम्पत्ति का अधिकार त्याग दें और इस प्रकार केवल सम्पूर्ण श्रमिक समुदाय, वरन समस्त मानव समाज को पूँजीवादी बेड़ियों से मुक्त करें? आप समाजवाद की व्यावहारिकता पर तर्क करना चाहते हैं. मैं इसे आपके सर्वशक्तिमान पर छोड़ देता हूँ कि वह लागू करे. जहाँ तक सामान्य भलाई की बात है, लोग समाजवाद के गुणों को मानते हैं. वे इसके व्यावहारिक न होने का बहाना लेकर इसका विरोध करते हैं.
व्यवसाय के आन्तरिक वातावरण की जानकारी (Understanding Internal environment of business) किसी भी व्यवसाय के उद्देश्य की प्राप्ति हेतु आवश्यक होता है कि यह व्यवसाय प्रबन्धकों द्वारा बनायी गयी नीतियों एवं निर्देशों के अनुरूप संचालित हो। अत: व्यवसाय के पूर्वानुमान की नीतियों, लक्ष्यों, साधनों, योजनाओं, व्यूहरचनाओं आदि की जानकारी के साथ-साथ इनमें हो रहे परिवर्तनों की भी जानकारी व्यवसाय (प्रबन्ध तन्त्र या स्वामी) के लिए अत्यन्त आवश्यक होती है। अत: व्यावसायिक वातावरण में हो रहे नित नये परिवर्तन की जानकारी के लिए संगठनों द्वारा विकसित एवं आधुनिकतम प्रबन्धन सूचना प्रणाली (Management Informationsystem) का सहारा लिया जाता है।
Uttarakhand Chief Minister Trivendra Singh Rawat had a closed door meeting with the Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS) and its 29 affiliated organisations on Aug...ust 23, 2018. It was decided during the meeting that Akhil Bhartiya Rashtriya Shaikshik Mahasangh (ABRSM) would set up units in all the educational institutes right from the primary level to the college level.
वैधानिक घटक के अन्तर्गत देश में व्यवसाय एवं समाज के हित में चलाये जा रहे विभिन्न नियम अधिनियम, सरकारी गजट, आदि आते हैं, जबकि न्यायिक घटक के अन्तर्गत व्यवसाय एवं समाज के हितों की रक्षा के लिए विवादों का समाधान करने के उपरान्त विभिन्न न्यायालयों द्वारा दिये गये निर्णय शामिल होते हैं। वैधानिक एवं न्यायिक घटक के अन्तर्गत मुख्यत: व्यावसायिक, औद्योगिक व श्रम सन्नियम शामिल होते हैं व प्रशासन व्यवस्था, व्यावसायिक, औद्योगिक व श्रम अधिनियम या सन्नियम के अन्तर्गत सरकार द्वारा समय-समय पर पारित अधिनियम जैसे - भारतीय संविदा अधिनियम (Indian Contract Act), 1872, भारतीय कम्पनी अधिनियम (Indian Companies Act), 1956; वस्तु विक्रय अधिनियम (Sales of Goods Act), 1930, भारतीय साझेदारी अधिनियम (Indian Partnership Act),1932, उद्योग विकास एवं नियमन अधिनियम (Industry Development and Regulation Act), 1951, एकाधिकार एवं प्रतिबंधित व्यापार व्यवहार अधिनियम (MRTP Act 1969), प्रतिभूति प्रसंविदा नियमन अधिनियम (Securities Contract Regulation Act), 1956; भारतीय कारखाना अधिनियम (Indian Factories Act), 1948; औद्योगिक विवाद अधिनियम (Industrial Dispute Act), 1947; कर्मचारी क्षतिपूर्ति अधिनियम, (Workmans Compensation Act), 1923; मजदूरी भुगतान अधिनियम, आवश्यक वस्तु अधिनियम, व्यापार एवं वस्तु चिन्ह अधिनियम आदि प्रमुख हैं जो देश की व्यावसायिक गतिविधियों को सुचारू रूप से चलाने में सहायता करते हैं।
उसी दिन से कुछ पुलिस अफ़सरों ने मुझे नियम से दोनों समय ईश्वर की स्तुति करने के लिये फुसलाना शुरू किया. पर अब मैं एक नास्तिक था. मैं स्वयं के लिये यह बात तय करना चाहता था कि क्या शान्ति और आनन्द के दिनों में ही मैं नास्तिक होने का दम्भ भरता हूँ या ऐसे कठिन समय में भी मैं उन सिद्धान्तों पर अडिग रह सकता हूँ. बहुत सोचने के बाद मैंने निश्चय किया कि किसी भी तरह ईश्वर पर विश्वास और प्रार्थना मैं नहीं कर सकता. नहीं, मैंने एक क्षण के लिये भी नहीं की. यही असली परीक्षण था और मैं सफल रहा. अब मैं एक पक्का अविश्वासी था और तब से लगातार हूँ. इस परीक्षण पर खरा उतरना आसान काम न था. ‘विश्वास’ कष्टों को हलका कर देता है. यहाँ तक कि उन्हें सुखकर बना सकता है.
Mann credited Ben Straley, co-founder of Meteor Solutions – who has joined Rio SEO as vice president of social technologies – along with the Seattle-based team, for expediting a smooth transition and fast integration since the acquisition was finalized late last year.  Straley now reports to Chris Reid, senior vice president and operating head of Rio SEO.
×