बिना किसी स्वार्थ के यहाँ या यहाँ के बाद पुरस्कार की इच्छा के बिना, मैंने अनासक्त भाव से अपने जीवन को स्वतन्त्रता के ध्येय पर समर्पित कर दिया है, क्योंकि मैं और कुछ कर ही नहीं सकता था. जिस दिन हमें इस मनोवृत्ति के बहुत-से पुरुष और महिलाएँ मिल जायेंगे, जो अपने जीवन को मनुष्य की सेवा और पीड़ित मानवता के उद्धार के अतिरिक्त कहीं समर्पित कर ही नहीं सकते, उसी दिन मुक्ति के युग का शुभारम्भ होगा. वे शोषकों, उत्पीड़कों और अत्याचारियों को चुनौती देने के लिये उत्प्रेरित होंगे. इस लिये नहीं कि उन्हें राजा बनना है या कोई अन्य पुरस्कार प्राप्त करना है यहाँ या अगले जन्म में या मृत्योपरान्त स्वर्ग में. उन्हें तो मानवता की गर्दन से दासता का जुआ उतार फेंकने और मुक्ति एवं शान्ति स्थापित करने के लिये इस मार्ग को अपनाना होगा. क्या वे उस रास्ते पर चलेंगे जो उनके अपने लिये ख़तरनाक किन्तु उनकी महान आत्मा के लिये एक मात्र कल्पनीय रास्ता है.
तुम्हारा दूसरा तर्क यह हो सकता है कि क्यों एक बच्चा अन्धा या लंगड़ा पैदा होता है? क्या यह उसके पूर्वजन्म में किये गये कार्यों का फल नहीं है? जीवविज्ञान वेत्ताओं ने इस समस्या का वैज्ञानिक समाधान निकाल लिया है. अवश्य ही तुम एक और बचकाना प्रश्न पूछ सकते हो. यदि ईश्वर नहीं है, तो लोग उसमें विश्वास क्यों करने लगे? मेरा उत्तर सूक्ष्म और स्पष्ट है. जिस प्रकार वे प्रेतों और दुष्ट आत्माओं में विश्वास करने लगे. अन्तर केवल इतना है कि ईश्वर में विश्वास विश्वव्यापी है और दर्शन अत्यन्त विकसित. इसकी उत्पत्ति का श्रेय उन शोषकों की प्रतिभा को है, जो परमात्मा के अस्तित्व का उपदेश देकर लोगों को अपने प्रभुत्व में रखना चाहते थे और उनसे अपनी विशिष्ट स्थिति का अधिकार एवं अनुमोदन चाहते थे. सभी धर्म, समप्रदाय, पन्थ और ऐसी अन्य संस्थाएँ अन्त में निर्दयी और शोषक संस्थाओं, व्यक्तियों और वर्गों की समर्थक हो जाती हैं. राजा के विरुद्ध हर विद्रोह हर धर्म में सदैव ही पाप रहा है.
You can enable Update Management for virtual machines directly from your Azure Automation account. To learn how to enable Update Management for virtual machines from your Automation account, see Manage updates for multiple virtual machines. You can also enable Update Management for a single virtual machine from the virtual machine pane in the Azure portal. This scenario is available for Linux and Windows virtual machines.
पार्टी सूत्रों की मानें तो छत्तीसगढ़ की राजनीतिक गतिविधियों की जानकारी पुनिया अब पीसीसी अध्यक्ष से नहीं ले रहे हैं। दूसरे वरिष्ठ नेताओं से लगातार उनका संपर्क बना हुआ है। पार्टी सूत्रों का यह भी कहना है कि पुनिया बेहद नाराज हैं। अभी वे न तो चुनावी रणनीति पर कोई बात कर रहे हैं और न ही प्रत्याशी चयन पर। वे केवल वायरल वीडियो के बाद छत्तीसगढ़ की राजनीति की टोह लेने में लगे हैं। छत्तीसगढ़ कांग्रेस में बने हालात को लेकर हाईकमान चिंतित है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि जल्द ही हाईकमान की तरफ से कुछ होने वाला है।
कारावास की काल-कोठरियों से लेकर झोपड़ियों की बस्तियों तक भूख से तड़पते लाखों इन्सानों से लेकर उन शोषित मज़दूरों से लेकर जो पूँजीवादी पिशाच द्वारा खून चूसने की क्रिया को धैर्यपूर्वक निरुत्साह से देख रहे हैं और उस मानवशक्ति की बर्बादी देख रहे हैं, जिसे देखकर कोई भी व्यक्ति, जिसे तनिक भी सहज ज्ञान है, भय से सिहर उठेगा, और अधिक उत्पादन को ज़रूरतमन्द लोगों में बाँटने के बजाय समुद्र में फेंक देना बेहतर समझने से लेकर राजाओं के उन महलों तक जिनकी नींव मानव की हड्डियों पर पड़ी है- उसको यह सब देखने दो और फिर कहे – सब कुछ ठीक है! क्यों और कहाँ से? यही मेरा प्रश्न है. तुम चुप हो. ठीक है, तो मैं आगे चलता हूँ.
भाजपा के चुनावी चक्रव्यूह को तोड़ने के लिए कांग्रेस ने अपनी रणनीति तय कर ली है। भाजपा प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की योजनाओं की ब्रांडिंग करेगी तो कांग्रेस उसके घोटाले, भ्रष्टाचार और नाकामी को घर-घर बताकर अपनी स्थिति मजबूत करेगी। पार्टी के पदाधिकारियों का कहना है कि कांग्रेस का मिशन-2018 भाजपा से पहले शुरू किया जा चुका है। इस मिशन की जिम्मेदारी ब्लॉक से लेकर जिले के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को दी गई है।
खोज इंजन के लिए अपनी वेबसाइट होना करने के लिए मिल, यह ध्यान दें कि Google लाखों और करोड़ों का विश्लेषण करती है वास्तव में बहुत महत्वपूर्ण है पृष्ठों हर दिन है, इसलिए जब यह विश्लेषण किया जाना अपने पेज पर निर्भर है, यह आसान करने के लिए गूगल है कोड में खुदाई और देखते हैं कि क्या है आपके सूचकांक वेब के लिए तेजी से, यह आसान डाल उन्हें और अधिक, इनाम तो यह एक जटिल कोड नहीं होना बहुत जरूरी है तुम जाएगा, अपने
×